Do not watch this cursed Hollywood movie even by mistake, 20 people died due to the ghost of truth coming upon the girl.

अब तक आपने कई डरावनी फिल्में देखी होंगी। जिसमें हॉलीवुड और बॉलीवुड फिल्में भी शामिल होंगी. लेकिन आज हम आपको जिस फिल्म के बारे में बताने जा रहे हैं वो फिल्म तो आपने देखी होगी लेकिन उस फिल्म के पर्दे के पीछे की कहानी क्या थी. ये सुनकर आप जरूर दंग रह जाएंगे. हॉरर फिल्मों को लेकर कई बार ऐसी अफवाहें उड़ी हैं कि फिल्म की शूटिंग के दौरान स्टार कास्ट के साथ अजीब चीजें होने लगीं। लेकिन हॉलीवुड की हॉरर फिल्म ‘द एक्सोरसिस्ट’ एक ऐसी फिल्म है, जिसके रिलीज होने के बाद सामने आए सीन्स ने लोगों की जान तक ले ली।

,
लोगों ने फिल्म को शापित माना

विलियम फ्रीडकिन की यह हॉरर क्लासिक फिल्म ‘द एक्सोरसिस्ट’ साल 1973 में रिलीज हुई थी। यह एक ऐसी फिल्म है जिसे लोग शापित मानते हैं। इसकी वजह ये है कि ये फिल्म इतनी डरावनी थी कि इसे देखने वाले कई लोगों को थिएटर में ही हार्ट अटैक आ गया था. ऐसा कहा जाता है कि फिल्म समीक्षक हॉरर फिल्म ‘द एक्सोरसिस्ट’ देखने के लिए सिनेमा हॉल पहुंचे और फिल्म शुरू होने के कुछ देर बाद ही वहां से भाग गए। हालात ऐसे थे कि अमेरिका में किसी को जरूरत पड़ने पर सिनेमा हॉल के बाहर एंबुलेंस खड़ी रहती थी।

,
आपको बता दें कि फिल्म ‘द एक्सोरसिस्ट’ एक ऐसी लड़की की कहानी थी जिस पर एक बुरी आत्मा का साया था। फिल्म के सीन काफी डरावने फिल्माए गए थे. इसे देखने वाले दर्शक थिएटर में ही चिल्ला उठेंगे. ऐसी चर्चाएं हर जगह होने लगीं. इतना ही नहीं, यूके की फारआउट मैगजीन ने दावा किया कि जैसे ही फिल्म ‘द एक्सोरसिस्ट’ की शूटिंग शुरू हुई, स्टार कास्ट के साथ अप्रिय घटनाएं होने लगीं। जिसके बाद लोग फिल्म को शापित मानने लगे। ऐसा भी कहा जाता है कि फिल्म की शूटिंग के दौरान सेट पर आग लग गई थी और पूरी शूटिंग के दौरान केवल बेडरूम ही बचा था जहां डरावने सीन फिल्माए गए थे।

,,
दावा किया जाता है कि फिल्म के निर्माण के दौरान विभिन्न कारणों से इससे जुड़े 20 लोगों की मौत हो गई. हालाँकि, अप्रिय घटनाएँ यहीं नहीं रुकीं। फिल्मांकन समाप्त होने के कुछ समय बाद, फिल्म के अभिनेता जैक मैकगोवन और वासिलिकी मालिआरोस, जिनके पात्र फिल्म में मारे गए थे, की संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई। बाकी स्टार कास्ट के साथ भी अजीब घटनाएं हुई। कुछ लोगों का दावा था कि फिल्म देखने के बाद कई लोग डिप्रेशन में चले गए थे, जिसके बाद उनके इलाज के लिए चर्च से पादरी बुलाए गए थे।

,
हैरान करने वाली बात ये थी कि फिल्म ‘द एक्सोरसिस्ट’ को लेकर इतने सारे दावे किए गए थे. लोग डिप्रेशन में चले गये. कई लोगों की जान चली गई. इसके बावजूद लोगों में फिल्म का क्रेज खत्म नहीं हुआ. बताया जाता है कि द एक्सोरसिस्ट को देखने के लिए सुबह से ही सिनेमा हॉल के बाहर लाइन लगनी शुरू हो गई थी। हालाँकि, उनकी सुरक्षा के लिए, किसी को ज़रूरत पड़ने पर सिनेमाघरों के बाहर एक एम्बुलेंस हमेशा खड़ी रहती थी। आपको बता दें कि फिल्म ‘द एक्सोरसिस्ट’ प्राइम वीडियो पर उपलब्ध है।


source

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button