लोहा पुल की जर्जर सड़क बनाने का रास्ता साफ, रेलवे विभाग ने दी मंजूरी

[ad_1]

लोहा पुल की जर्जर सड़क बनाने का रास्ता साफ- यमुना नदी पर बने लोहा पुल के जर्जर सड़क को बनाने का रास्ता साफ हो गया है। रेलवे विभाग ने पीडब्ल्यूडी को सड़क बनाने की मंजूरी दे दी है।

 जल्द ही काम शुरू हो जाएगा

 ऐसा बताया जा रहा है कि सड़क बनाने का काम जल्दीशुरू हो जाएगा। गांधीनगर में आरडब्ल्यूए ने तकरीबन साल भर पहले  पूर्वी दिल्ली के सांसद  गौतम गंभीर से पत्र  के माध्यम से जर्जन सड़क का निर्माण करवाने की गुजारिश की थी।

 मुकेश स्वामी ने सांसद को अवगत करवाया था कि लोहा पुल की सड़क काफी ज्यादा जर्जर है। इस पर गड्ढे बन गए हैं जिसकी वजह से आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है।

 यातायात भी धीमा रहता है 

 सड़कों पर गड्ढा होने की वजह से यातायात भी धीमे रहता है. सांसद गौतम गंभीर ने रेलवे को  पत्र लिख कर समस्या के समाधान की अपील की है।

 गंभीर ने जानकारी देते हुए बताया है कि रेलवे ने पीडब्ल्यूडी को सड़क बनाने की मंजूरी दे दी है. बताना चाहते हैं कि इसका निर्माण जोर शोर से चल रहा था.

 पुरानी दिल्ली को जोड़ने वाला पुल

 बनते समय कभी इसका निर्माण  रुक जाता था तो कभी जोर शोर से चलता था. पुरानी दिल्ली को जोड़ने वाला यह  लोहा पुल अपने आप में  काफी ज्यादा विचित्र है।

 अगर हम पुल के इतिहास के बारे में बात करें तो इस पुल को  अंग्रेजों ने बनवाया था। इस पुल को रेल और यातायात दोनों के लिए बनाया गया है.

 249 के नाम से जाना जाता है

 अगर हम रेलवे की भाषा में बात करें तो लोहा पुल को 249 के नाम से जाना जाता है. आपको बता दे कि भारत में सबसे पुराने  और लंबे पुलों में से एक है यह पुल। यहां पर हम देख सकते हैं कि किस प्रकार की फाउंडेशन देखने को मिलती है। जानकारी पढ़ने के लिए धन्यवाद।

इसे भी पढ़े- महिला अत्याचार के खिलाफ दिल्ली में इस दिन होगा AIPWA का नौवां राष्ट्रीय सम्मेलन, महासचिव ने पूरे देश से 10 लाख महिलाओं को जोड़ने का रखा लक्ष्य

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button