महिला पायलट की सूझबूझ से टकराने से बचे दो विमान, एयरपोर्ट पर एक ही रनवे पर आ गए थे विस्तारा के विमान

[ad_1]

महिला पायलट की सूझबूझ से टकराने से बचे दो विमान- एक महिला पायलट की समझदारी से दिल्ली एयरपोर्ट पर बुधवार सुबह एक बड़ा हादसा होने से बच गया. बताया जा रहा है कि विस्तारा एयरलाइन  के दो विमान एक ही रनवे पर आ गए थे।

 अपना विमान रोक लिया था

 लेकिन महिला पायलट ने  समझदारी दिखाते हुए अपना विमान किसी तरह रोक लिया था. इसमें दोनों विमान टकराने से बच गए.

 दोनों विमान में लगभग 300 यात्री सवार थे.  नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं.

 एयर ट्रैफिक कंट्रोलर को काम से निकाल दिया गया  

 इसके साथ ही जिम्मेदार एयर ट्रैफिक कंट्रोलर को कम से हटा दिया है. विस्तारा की अहमदाबाद से दिल्ली फ्लाइट संख्या  वीटीआई926 रनवे नंबर 29एल पर लैंड हुई थी। 

एयर ट्रैफिक कंट्रोलर ने फ्लाइट को रनवे 29 से होते हुए पार्किंग मे जाने के लिए सिग्नल दिया था. विमान की पहली पायलट सोनू गिल आगे बढ़ रही थी।

 उड़ान भरने की जिम्मेदारी दे दी 

 इसी दौरान एटीसी अधिकारी ने  दिल्ली बागडोगरा फ्लाइट  संख्या यूके725 को रनवे 29आर से उड़ान भरने की जिम्मेदारी दे दी।  

 विमान उड़ान भरने ही वाला था की पायलट सोनू गिल  कि उस पर नजर पड़ी. उन्होंने तुरंत  एटीसी को अलर्ट जारी किया. तब उनसे दिल्ली बागडोगरा फ्लाइट संख्या 

यूके725 को रनवे 29आर से उड़ान भरने की मंजूरी दी गई।

 विमान उड़ान भरने वाला था तभी पायलट सोनू गिल की उस पर नजर पड़ी। उन्होंने तत्काल  एटीसी को अलर्ट जारी किया। तभी उसने दिल्ली-बागडोगरा विमान को उड़ान भरने से रोका।

1.8 किलोमीटर की दूरी रह गई थी 

 बताया जा रहा है कि दोनों विमान के बीच में  1.8 किलोमीटर की दूरी रह गई थी। उड़ान भरने से रोका तो दोनों विमान के बीच की दूरी 1.8 किलोमीटर रह गई थी।

 जरा सी भी और देरी होती तो दोनों विमान के बीच में टक्कर हो जाती। एयरपोर्ट अधिकारियों के अनुसार उड़ान भर रहे विमानो को सही समय पर नहीं रोका जाता तो बड़ा हादसा हो सकता था।

इसे भी पढ़े- 7 तारीख रात 12 बजे पूरी दिल्ली हो जाएगी बंद… ट्रैफिक और सारे नियम जान लीजिए

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button